आप अपनाएं ये तरीके अपने तनाव दूर करने के लिए, जाने अभी

248

लाइव हिंदी खबर (हेल्थ कार्नर ) :-    कई शोधों में सामने आया है कि दिमाग और शरीर के बीच के संतुलन को खराब करने की एक प्रमुख वजह है तनाव। इससे न केवल व्यक्ति चैन की नींद नहीं सो पाता है बल्कि भूख न लगने की समस्या और बिना बात के गुस्सा रहता है। इसलिए यदि खुद को तरोताजा रखना चाहते हैं तो तनाव को दूर करने के लिए आसान और उपयोगी ये कुछ तरीके अपनाए जा सकते हैं। जानते हैं इनके बारे में…

तनाव दूर करने के लिए आप अपनाएं ये तरीके

मैग्नीशियम का स्तर बनाएं
तनाव की स्थिति स्ट्रेस हार्मोन के अत्यधिक रिलीज होने से बनती है। ऐसे में कोशिश करें कि अपने खान-पान में मैग्नीशियम तत्व से युक्त चीजों को ज्यादा खाएं। इस तत्व की खासियत यह है कि यह इस हार्मोन के स्त्रावण को कंट्रोल रखने के साथ स्वभाव को सामान्य बनाए रखता है। भोजन में हरी पत्तेदार सब्जियां खाने के अलावा सूखे मेवे, बीज, डार्क चॉकलेट, मौसमी फल आदि खाएं।

वर्कआउट करें
दिनचर्या में कुछ समय अपने शरीर को एक्टिव रखने के लिए निकालें। इस दौरान शरीर से निकलने वाला पसीना स्वभाव को संतुलित बनाए रखता है। यदि आपको वर्कआउट करना पसंद नहीं है तो आप साइक्लिंग, वॉकिंग, स्वीमिंग, स्कीपिंग आदि गतिविधियों से खुद को जोड़े रख सकते हैं। इससे आपका दिमाग एक्टिव होगा, साथ ही शरीर में ऊर्जा भी आएगी।

काम की लिस्ट बनाएं
जब हमारा दिमाग कई काम और जिम्मेदारियों के बीच फंस जाता है तो तनाव की स्थिति बनती है। इसलिए तनाव से बचने के लिए सबसे पहले हर दिन के काम की लिस्ट तैयार करें। इसके बाद प्राथमिकता तय कर एक के बाद एक काम को पूरा करते जाएं। ऐसे में जैसे-जैसे काम का बोझ कम होगा, तनाव घटने लगेगा और आप अच्छा महसूस करेंगे।

अच्छा खान-पान लें
कई आहार विशेषज्ञों का मानना है कि तनाव का स्तर कम करने में खान-पान भी अहम भूमिका निभाता है। खासतौर पर ऐसी चीजें लें, जो अमीनो एसिड, ओमेगा-३ फैटी एसिड, विटामिन, मिनरल और फॉलिक एसिड से युक्त हों। इसके लिए आप भोजन में अंडे, ओट्स, डार्क चॉकलेट, एवोकेडो, डेयरी प्रोडक्ट्स, हरी सब्जियां और बादाम व अखरोट जैसे सूखे मेवे खा सकते हैं। फॉलिक एसिड ऐसा तत्व होता है, जो दिमाग की तंत्रिकाओं का कार्य बेहतर कर तनाव कम करता है।

उपयोगी तरीके
शरीर की सफाई एक तरह से तनाव का स्तर कम करने में मददगार होती है। ऐसे में आप खुद के लिए थोड़ा समय निकालें। पार्लर में जाकर या घर पर ही आप बॉडी स्क्रबिंग करने के अलावा तेल से मालिश और त्वचा पर मॉइश्चराइजर का प्रयोग कर सकते हैं। आप चाहें तो घर में खुशबूदार मोमबत्ती या धूप जलाकर इस सुगंध के बीच कुछ समय के लिए बैठें। इससे आप अच्छा महसूस करेंगे, जिससे दिमाग तरोताजा रहेगा। इससे आप नए उत्साह से काम कर पाएंगे।

गहरी सांस लें
सांस लेना जीने के लिए जरूरी है और गहरी सांस लेना जीवन को जिंदादिली से जीने के लिए जरूरी है। कई योगाचार्यों की मानें तो गहरी सांस लेने के दौरान दिमाग से लेकर शरीर के विभिन्न अंगों तक रक्तसंचार बेहतर होता है। वहीं जल्दबाजी में सांस लेने से शरीर के कई अंग थके हुए होते हैं, जो ऊर्जा को बनने नहीं देते हैं। इसलिए आप कहीं भी और किसी भी समय गहरी सांस ले सकते हैं।

पर्याप्त नींद लें
कहते हैं कि ऊर्जा से भरपूर व्यक्ति असंभव कार्य को भी संभव कर दिखाता है। ऐसी स्थिति तब ही हो सकती है, जब व्यक्ति की नींद पूरी हो। इससे दिमाग एक्टिव रहता है और हर काम को पूरा करने के लिए तैयार रहता है। थका हुआ दिमाग हर काम को करने के लिए कदम पीछे ही हटाता है। इसलिए नींद पूरी होना जरूरी है। इसलिए रोजाना ७-८ घंटे की नींद जरूर लें।