इन 5 जंगली फलों के सेवन से कभी नहीं होगी कोई भी बीमारी

802

हेल्थ कार्नर :-   हम सबने बचपन से हमेशा सुना है. कि हमे फलों का सेवन करना चाहिए क्योंकि फलों में हमारे शरीर के लिए सारे पोषक तत्व पाए जाते है. और फलों के सेवन से हम बीमारी से भी दूर रहते है. लेकिन आपने कभी भी जंगली फलों के बारे में नहीं सुना होगा. आज हम आपको ऐसे जंगली फलों के बारे में बता रहे है. जिनके सेवन से आप कभी भी बीमार नहीं पड़ेंगे.

इन 5 जंगली फलों के सेवन से कभी नहीं होगी कोई भी बीमारी

जामुन

जामुन का सेवन करना हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक माना गया है. जामुन में फोलिक एसिड, फॉस्फोरस, सोडियम और मैग्नीशियम आदि भरपूर मात्रा में पाए जाते है. जामुन के बीजों को सुखाकर उसके पाउडर का सेवन करने से शुगर की बीमारी में भी मदद मिलती है.

बेर

बेर खाने में खट्टे और मीठे दोनों होते है. अगर आपको सही समय पर भूख नहीं लगती है. तब ऐसे में बेर का सेवन करने से आपको भूख लगने लगती है बेर पेट में होने वाले कीड़ों को खत्म करता है. बेर का इस्तेमाल करने से पाचन तंत्र के आंत के कीड़े भी नष्ट हो जाते हैं. इसके अलावा बेर की तासीर ठंडी होती हैं. इसलिए यह पित्त को नष्ट करने के लिए उपयोगी होता हैं.

फालसा

दोस्तों फालसा दिखने में बिल्कुल बेर के जैसा ही दिखता है. यह गर्मी के दिनों में शरीर को ठंडा रखने में मदद करता है. इसका नियमित सेवन से लू भी नहीं लगती है. इसको आप शरबत बनाकर भी पी सकते है. खून की कमी होने पर भी इसका सेवन करने से शरीर में खून की मात्रा बढ़ती है.

शहतूत

शहतूत में विटामिन और कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है. यह आँखों के लिए बहुत उपयोगी होता है. गर्मियों के दिनों में इसका सेवन करने से यह शरीर को ठंडक देता है.

करौंदा

करौंदा खाने में खट्टा होता है. इसका उपयोग ज्यादात्तर आचार और सब्जी बनाने में होता है. इसके सेवन करने से भूख बढ़ती है. प्यास को भी रोकता है. सुखी खांसी होने पर करौंदे की पत्तियों के रस के सेवन से खांसी में आराम मिलता है. करौंदा खाने से मसूडो की समस्या भी ठीक होती है. और दांत भी मजबूत होते है.