इस वजह से कुछ महिलाओं को गर्भवती होने में होती हैं देरी

255

हेल्थ कार्नर :-   इस दुनिया में बहुत हीं महिलाएं ऐसी हैं जो माँ बनने का प्लानिंग तो कर लेती हैं लेकिन उन्हें गर्भवती होने में काफी समय का सामना करना पड़ता हैं। तब जा कर महिलाएं गर्भवती होती हैं। आज इसी संदर्भ में साइंस के द्वारा ये जानने की कोशिश करेंगे की ऐसा क्या कारण हैं की कुछ महिलाओं को गर्भवती होने में काफी समय लग जाते हैं। साथ हीं साथ महिलाओं को कई बीमारियों का भी ख़तरा होता हैं। तो आइये जानते हैं विस्तार से की इस वजह से कुछ महिलाओं को गर्भवती होने में होती हैं देरी।

इस वजह से कुछ महिलाओं को गर्भवती होने में होती हैं देरी

आरएच फैक्टर, साइंस के अनुसार अगर महिला का आरएच फैक्टर पॉजिटिव हैं और पुरुषों के आरएच फैक्टर नेगेटिव हैं तो ऐसे कपल जल्दी गर्भाधान नहीं कर पाते हैं। इस अवस्था में महिलाओं को गर्भवती होने में काफी समय लग जाता हैं। साथ हीं साथ ऐसे महिलाएं एक स्वस्थ बच्चे को जन्म नहीं दे पाती हैं। इसलिए गर्भाधान से पहले महिला और पुरुष डॉक्टर की सहायता से ब्लड टेस्ट करा कर अपने आरएच फैक्टर के बारे में ज़रूर पता करें।

गर्भाशय ग्रीवा, दरअसल गर्भाशय ग्रीवा शरीर का वो भाग हैं तो पुरुषों के शुक्राणु को महिला के गर्भाशय में ले जाता हैं। अगर किसी महिला को गर्भाशय ग्रीवा में प्रॉब्लम हैं तो वैसी महिला को गर्भाधान करने में काफी देरी होता हैं और ये महिला जल्दी गर्भवती नहीं हो पाती हैं। अगर किसी महिला के साथ ऐसा प्रॉब्लम हो रहा हैं तो उसे शीघ्र डॉक्टर से संपर्क करनी चाहिए। क्यों की गर्भाशय ग्रीवा में जब संक्रमण हो सकता हैं तो ऐसी समस्या उत्पन होती हैं और ये संक्रमण कभी कभी बड़ी बीमारी का भी रूप ले लेता हैं।

पीएच स्तर, साइंस के अनुसार महिलाओं के शरीर में पीएच स्तर का बहुत ज्यादा या बहुत कम होना परेशानियों का कारण बन जाता हैं। इससे महिलाओं के गर्भाशय में भूर्ण का निर्माण जल्दी नहीं हो पाता हैं और महिलाओं को गर्भवती होने में काफी समय लग जाता हैं। इसलिए अगर कोई महिला गर्भवती नहीं हो पा रही हैं तो उसे मेडिकल साइंस की सहायता लेनी चाहिए और डॉक्टर से संपर्क करनी चाहियें। क्यों की मेडिसिन के द्वारा पीएच स्तर में सुधार किया जा सकता हैं।

पीसीओस, इसका अर्थ पोलिसिस्टिक सिंड्रोम होता हैं जो महिलाओं के शरीर में संक्रमण के कारण उत्पन होते हैं। इससे महिलाओं को गर्भाधान करने में देरी होती हैं क्यों की यह पोलिसिस्टिक सिंड्रोम एक बैक्ट्रिया की तरह हैं जो बार बार महिलाओं के भूर्ण को नष्ट कर देता हैं जिससे महिलाएं जल्दी गर्भवती नहीं हो पाती हैं। इस लिए महिलाओं को गर्भाधान से पहले पीसीओस का चेकप ज़रूर करानी चाहियें। ताकि उसे माँ बनने का सुख जल्दी प्राप्त हो सके।

सामान्य समस्या, कई बार महिलाओं के शरीर में कुछ ऐसी सामान्य समस्या होती हैं जिसके कारण महिलाओं को गर्भवती होने में परेशानी आती हैं। साइंस के अनुसार अनियमित माहवारी, मोटापा और शराब का अधिक सेवन से भी कुछ महिलाये गर्भवती नहीं हो पाती हैं। क्यों की ऐसी समस्या वाली महिलाओं के शरीर में बनने वाले अंडे उच्च किस्म के नहीं होते हैं। इसलिए अगर किसी महिला के साथ ऐसी समस्या हैं तो उसे डॉक्टर से संपर्क करनी चाहिए और शराब का सेवन बिल्कुल भी नहीं करनी चाहियें।