Breaking News

क्या आप भी है दमा(अस्थमा) जैसी बीमारी के शिकार? तो जरूर पढ़ें ये बड़ी जानकारी

वर्षा के मौसम में अस्थमा की बीमारी विकसित होकर रोगी को अधिक पीड़ित करती है ! अस्थमा में कफ के कारण साँस लेने के रस्ते में बाधा उत्पन्न होती है ! हवा के प्रकोप से सांस की नाली सिकुड़ने लगती है ! शुरुआत में रोगी को छींके आती है और फिर खांसी जुखाम हो जाता है ! सांस लेने में कठनाई होने से रोगी देर तक खांसता है !

लक्षण : अस्थमा की उत्पत्ति कुछ रोगियों में एलेर्जी के कारण होती है ! जोरो से खांसने और सांस न ले पाने की स्थिति में रोगी परेशान हो जाता है, और उसका चेहरा लाल हो जाता है ! आँखों में आंसू निकल आते है ! सारा शरीर पसीने से भीग जाता है ! और इसका अन्य कारण यह है कि आजकल प्रदुषण काफी बढ़ गया है जिससे अगर किसी को नार्मल खांसी होती है तो भी उसे दमा कि शिकायत हो सकती है इस लिए ये बहुत जरुरी है कि आप अपनी सेहत का ख्याल ज्यादा से ज्यादा रखें ! कुछ दमा ( अस्थमा ) को रोकने के घरेलू उपाए !

घरेलू उपाए :

  • अधरक के ५ ग्राम रस में शहद मिलाकर सेवन करने से दमे की बीमारी ख़तम हो जाती है !
  • निम्बू का रस १० ग्राम, अदरक का रस ५ ग्राम मिलाकर ओस के पानी के साथ लेने से अस्थमा का प्रकोप खतम हो जाता है !
  • लहसुन का रस १० ग्राम मात्रा में ओस के जल के साथ लेने से अस्थमा की बीमारी में लाभ मिलता है !
  • २-३ लौंग १५० ग्राम पानी में उबाल कर थोड़ा थोड़ा जल पीने से अस्थमा सांस ख़तम हो जाता है !
  • पुष्कर की जड़ ५ ग्राम को पीसकर , अतीस का बारीक चूर्ण २ ग्राम मिलाकर शहद के साथ चाटने से अस्थमा में बहुत लाभ मिलता है !
  • अनार के दानो को कूट पीसकर चूर्ण बनाकर रखें ! ३ ग्राम चूर्ण शहद मिलाकर दिन में दो बार सेवन करेने से अस्थमा की बीमारी खतम हो जाती है !

विज्ञापन
Footer code:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *