क्रूर शनि भी ऐसे लोगों के जीवन में खुशियां लाते हैं, शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए यह उपाय करें।

97

क्रूर शनि भी ऐसे लोगों के जीवन में खुशियां लाते हैं, शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए यह उपाय करें। लाइव हिंदी खबर :-शनि सभी का सबसे धीमा चलने वाला ग्रह है। कई समस्याएँ शनि की बुरी नज़र के साथ शुरू हो जाती हैं। इसलिए, जैसे ही शनि का नाम आता है, लोगों के हाथ-पैर कांपने लगते हैं। शनि को न्याय का देवता माना जाता है। शनिदेव लोगों को उनके कर्मों के अनुसार दंड देते हैं या पुरस्कार देते हैं। शनिदेव किसी के जीवन को खुशियों और सौभाग्य से भर देते हैं। दूसरी ओर, यदि किसी व्यक्ति के जीवन में शनि की साढ़े साती या ढैया होती है, तो सभी तरह की परेशानियां उसे घेर लेती हैं।

ज्योतिष में शनि एक क्रूर ग्रह है और उसे न्यायाधीश का दर्जा प्राप्त है। कुंडली में शनि अन्य शुभ ग्रहों के अच्छे प्रभाव को भी प्रभावित कर सकता है। ज्योतिष के अनुसार, शनिदेव को क्रूर ग्रह माना जाता है। लेकिन यह ग्रह अच्छा फल भी प्रदान करता है। शनि सबसे धीमा चलने वाला ग्रह है। शनि एकमात्र ऐसा ग्रह है जो लगभग ढाई साल तक एक संकेत में रहता है। प्रत्येक काले कुत्ते को रोटी खिलाएं और तेल में डुबोकर मिठाई खिलाएं। यदि यह उपाय संभव न हो तो काले कुत्ते को बिस्कुट खिलाएं। उसी तरह काली गाय की सेवा से भी शनिदेव प्रसन्न होते हैं और उनके द्वारा उत्पन्न दोष दूर होते हैं।

यदि आप शनि के दोष या दुख से पीड़ित हैं और आप शनि द्वारा प्राप्त परेशानियों से परेशान हैं, तो आपको किसी ज्योतिषी से सलाह लेने के बाद नीलम या नीले रत्न पहनना चाहिए। यदि आप इसे नहीं ले सकते हैं, तो शमीना की जड़ को एक काले कपड़े में बाँध लें और इसे किनारे पर पहनें। यदि आप शनि की कृपा पाना चाहते हैं, तो आपको सबसे पहले अपने माता-पिता का सम्मान करना चाहिए। उनकी सेवा करनी है। यदि वह दूर है, तो आप उसके चित्र को नमन करते हैं। हर दिन फोन करें और आशीर्वाद प्राप्त करें। शनि का यह उपाय आपको चमत्कारी लाभ देगा। शनि के दोषों को दूर करने के लिए, शनि के मंत्र “ओम प्रां प्रीं प्रौं स: शनैश्चराय नम:” का प्रतिदिन कम से कम तीन माला जाप करें।