खूब खाएं गोभी, ब्रोकली और पत्ता गोभी और रहें हमेशा आंतों के कैंसर से दूर

144

हेल्थ कार्नर :-   अगर आप भी गोभी, ब्रोकली या पत्ता गोभी का नाम सुनते ही नाक भौंह सिकोड़ लेते है, तो यह गौर फरमाएं। इसका सेवन करने से आप कैंसर जैसी जानवेला बीमारी से बच सकते है। जानें इस शोध के बारें में।

अगर आप भी गोभी, ब्रोकली या पत्ता गोभी का नाम सुनते ही नाक भौंह सिकोड़ लेते है, तो यह गौर फरमाएं। इसका सेवन करने से आप कैंसर जैसी जानवेला बीमारी से बच सकते है। ब्रिटेन स्थित फ्रांसिस क्रिक इंस्टीट्यूट के हालिया अध्ययन में इन हरी सब्जियों को आंत के कैंसर से बचाव में कारगर करार दिया गया है।

खूब खाएं गोभी, ब्रोकली और पत्ता गोभी और रहें हमेशा आंतों के कैंसर से दूर

गोभी या ब्रोकली जैसी हरी पत्तेदार सब्जियां खाने से आंत स्वस्थ रहते हैं और आंतों के कैंसर से बचाव होता है। एक नए अध्ययन में यह जानकारी दी गई है। चूहों पर किए गए अध्ययन से पता चला कि जिन्हें इन्डोल 3 कार्बिनोल (आई3सी) युक्त आहार दिया गया, उनमें आंत में सूजन या आंतों के कैंसर से बचाव हुआ। गोभी और ब्रोकली में भी आई3सी पाया जाता है, जो एक एक्रियल हाइडोकार्बन रिसेप्टर (एएचआर) नाम के प्रोटीन को सक्रिय करता है, जिससे आंतों के कैंसर से बचाव होता है।

एएचआर एक पर्यावरणीय सेंसर के रूप में काम करता है तथा प्रतिरक्षा थंत्र और आंतों की एपिथिलिएल कोशिकाओं को संकेत देता है कि सूजन से बचाव करने की कोशिश करें और आंत में पाए जाने वाले खरबों बैक्टीरिया से प्रतिरक्षा प्रदान करता है।

ट्यूमर से करें बचाव
शोध प्रमुख ब्रिटेन के फ्रांसिस क्रिक इंस्टीट्यूट की अमीना मेतीजी का कहना है, “जब कैंसर ग्रस्त चूहों को आई3सी से भरपूर डायट खिलाया गया, तो उनमें ट्यूमर की संख्या में कमी देखी गई।”

यह शोध इम्युनिटी नाम के जर्नल में प्रकाशित किया गया है।

अखरोट भी करें आंत के कैंसर से बचाव
मई 2018 में इलिनॉयस यूनिवर्सिटी की ओर से जारी एक अध्ययन में यह दावा किया गया था। शोधकर्ताओं के मुताबिक अखरोट में मौजूद फाइबर एक तरफ आंत में ‘गुड बैक्टीरिया’ की संख्या बढ़ाता है तो दूसरी ओर पित्त व अमलों का उत्पादन घटाता है। इससे आंत की कोशिकाओं में सूजन और जलन की समस्या कम होने के साथ ही कैंसर का खतरा टलता है। इसलिए रोजाना एक मुट्ठी अखरोट का सेवन करें।