घर के आंगन में बस कर लें ये एक काम,हर दुख और परेशानियां हो जाएंगी खत्म

203

परेशानियां हर व्यक्ति के जीवन में होती है। कारण अलग-अलग हो सकते हैं, लेकिन कोई भी व्यक्ति अपने जीवन में पूरी तरह से सुखी नहीं है। किसी को पैसों की समस्या तो किसी को सुख शांति नहीं है। वहीं कुछ लोगों के पास पैसा है तो वे मानसिक परेशानियों से घिरे हैं। परंतु प्रसन्नता तो मानसिक शांति से ही आती है। इसलिए मानसिक शांति और समृद्धि पाने के लिए ज्योतिश के अनुसार कुछ उपाय किये जाते हैं। यदि आपके जीवन में भी तनाव और चिंता है, तो आप इन 6 तरह के फूलों के पौधे घर-आंगन में लगा लें। इन उपायों को करके अपने जीवन की सभी परेशानियों से मुक्ति पा सकते हैं। आइए जानते हैं वे उपाय….

घर के आंगन में बस कर लें ये एक काम,हर दुख और परेशानियां हो जाएंगी खत्म

1. चंपा के फूल
अधिकतर मंदिरों में आपने चंपा के फूल लगे देखे होंगे। चंपा का वृक्ष मंदिर के वातावरण को शुद्ध करने के लिए लगाया जाता है। पूजा में उपयोग किये जाने वाले इस फूल को घर में लगाने से घर का वातावरण शुद्ध होता है और हमेशा सकारात्मकता बनी रहती है। चंपा के खूबसूरत, मंद, सुगंधित हल्के सफेद, पीले फूल अक्सर पूजा में उपयोग किए जाते हैं। चंपा का वृक्ष वास्तु की दृष्टि से सौभाग्य का प्रतीक माना गया है।

2. पारिजात का फूल
पारिजात के फूलों को हरसिंगार और शैफालिका भी कहा जाता है। पारिजात के फूल आपके जीवन से तनाव हटाकर खुशियां ही खुशियां भर सकते है। परिजात के फूलों की खालियत होती है कि ये सिर्फ रात के समय ही खिलते हैं और सुबह होते ही मुरझा जाते हैं। मान्यताओं के अनुसार इस फूल को छूने मात्र से ही व्यक्ति की दिनभर की थकान मिट जाती है। जिसके भी आंगने में ये फूल खिलते हैं उस घर में हमेशा सुख-शांति और समृद्धि बनी रहती है।

3. रातरानी के फूल
रातरानी के फूल को चांदनी के फूल भी कहते हैं। रातरानी के फूल साल में 5 या 6 बार आते हैं। हर बार 7 से 10 दिन तक अपनी खुशबू बिखेरते हैं। कहा जाता है जो भी व्यक्ति इसकी सुगंध लेता है उसके जीवन के सारे दुख दर्द और चिंता खत्म हो जाती है। इसलिए इसे घर के आंगन में लगाना बहुत अच्छा माना जाता है।

4. रजनीगंधा
रजनीगंधा का पौधा भारत के लगभग हर हिस्से में होता है। इसके फूल ती किस्तों में होते हैं। मैदानी क्षेत्रों में अप्रैल से सितंबर के बीच तथा पहाड़ी क्षेत्रों में जून से सितंबर माह के बीच होते हैं। रजनीगंधा के फूलों का उपयोग माला और गुलदस्ते बनाने में किया जाता है। इसकी लंबी डंडियों को सजावट के रूप में उपयोग में लिया जाता है। इसे अपने घर आंगन में लगाने से घर का वातावरण शुद्ध हो जाता है और घर में होने वाले क्लेश भी दूर होते हैं।

5. मोगरा
मोगरे के फूल गर्मियों में खिलते हैं। इसकी भीनी-भीनी महक से तन और मन को ठंडक का अहसास होता है। इसका फूल सफेद रंग का होता है। जैसे-जैसे गर्मी बढ़ती है, इसकी सुगंध आपको गर्मी के अहसास से दूर रखती है। मोगरा कोढ़, मुंह और आंख के रोगों में लाभ देता है।