चुनाव प्रचार पर 24 घंटे की रोक, चुनाव आयोग के खिलाफ ममता बनर्जी का विरोध प्रदर्शन

145

लाइव हिंदी खबर :- पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के लिए 24 घंटे अभियान चलाया चुनाव आयोग वह प्रतिबंध की निंदा करते हुए, टारना संघर्ष में शामिल रहे हैं।

पश्चिम बंगाल में 294 निर्वाचन क्षेत्रों के लिए 8 चरणों में विधान सभा चुनाव हो रहे हैं। पहले 4 दौर के चुनाव हो चुके हैं। अभी 4 चरण के चुनाव होने बाकी हैं।

इस चुनाव में तीसरी बार सत्ता बरकरार रखने का फैसला किया ममता बनर्जी सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस पार्टी कड़ी टक्कर दे रही है।

वहीं, ममता बनर्जी के सामने एक बड़ा संकट और चुनौतियां खड़ी कर रही भाजपा सत्ता पर काबिज होने के लिए कई तरह के कदम उठा रही है। इस चुनाव में दोनों दलों के बीच तीखी प्रतिद्वंद्विता है।

इस स्थिति में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के लिए अगले 24 घंटों के लिए प्रचार करने के लिए कहा गया है। चुनाव आयोग प्रतिबंध कल लगाया गया था।

उन पर धार्मिक रूप से बोलने और मतदाताओं को केंद्रीय बलों के खिलाफ क्रोध करने के लिए उकसाने का आरोप लगाया गया था। चुनाव आयोग इस आदेश को जारी किया।

28 मार्च और 7 अप्रैल को अभियान रैलियों में उनके भाषणों के संबंध में निरोधक आदेश जारी किया गया था। प्रतिबंध कल रात 8 बजे से आज रात 8 बजे तक लागू रहेगा।

इसका कड़ा विरोध हुआ ममता बनर्जी चुनाव आयोग की कार्रवाई की निंदा कोलकाता गांधी मूर्ति ने घोषणा की कि वह क्षेत्र में तराना में शामिल होंगे। तदनुसार आज वह तरण संघर्ष में लगे हुए हैं।