Breaking News

तनावग्रस्त व्यक्ति से रहे दूर, हो सकते है ये बड़े नुकसान जाने विस्तार से

वैज्ञानिको ने पाया है कि दुसरो कि वजह से होने वाला तनाव मस्तिष्क में उसी तरह के बदलाव कर सकता है जैसे बदलाव असल तनाव के चलते होते है ! यह बात एक अध्ययन में कही गई है ! अध्ययन से जुड़े शोधकर्ताओं कि टीम में एक वैज्ञानिक भारतीय मूल का भी है ! अध्ययन चूहों पर किया गया !

यूनिवर्सिटी ऑफ़ केलगरी में कार्यरत जयदीप बैंस ने कहा कि मस्तिष्क में बदलाव से जुड़े तनाव के कारण पीटीएसडी, चिंताम,विकार और अवसाद सहित कई मानसिक बीमारियां हो सकती है !

बैंस ने कहा कि हालिया अध्ययन संकेत देते है कि तनाव और भाव संक्रामक हो सकते है ! शोधकर्ताओं ने चूहा या चुहिया के जोड़ो पर तनाव के प्रभाव का अध्ययन किया ! उन्होंने चूहों को साझीदार के पास वापस छोड़ने से पहले उसे हल्का तनाव दिया ! बाद में पाया कि तनाव से ग्रस्त चूहे के मस्तिष्क में जिस तरह के बदलाव आये ठीक उसी तरह के बदलाव उसके जोड़ीदार में भी आये है !

तो इसीलिए तनावग्रस्त व्यक्ति कि कुछ आदतें हमारे अंदर भी आ जाती है और हम बिना किसी वजह तनाव लेने लगते है ! तनाव लेना अच्छा नहीं होता चाहे वह किसी वजह से आये या बिना किसी वजह से आये !

विज्ञापन
Footer code:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *