तम्बाकू ही नहीं वास्तु दोष से भी होता है कैंसर, घर लेने से पहले कर लें जांच नहीं तो मंडरा सकता है ब्रेन से ब्लड कैंसर का खतरा

219

लाइव हिंदी खबर :- किसी प्लॉट, मकान या फ्लैट को खरीदने से पहले वास्तु के बारे में उचित जानकारी प्राप्त कर लेनी चाहिए। किसी जगह का वास्तु सही होना बेहद जरूरी है। इसीलिए अधिकतर लोग वास्तु को ध्यान में रखकर ही प्लॉट वगैरह की खरीदारी करते हैं। वास्तु दोष इंसान की जिंदगी को तबाह करके रख देता है।

醫學研究】 癌症治療研究大突破;有望可降低癌症復發機率! – Medical Inspire 醫・思維

किसी घर में वास्तु दोष होने पर परिवार के सदस्यों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है यह तो हम सभी जानते हैं, लेकिन भला वास्तु दोष से किसी को कैंसर भी हो सकता है यह बात वाकई में बेहद अजीब है।

तम्बाकू ही नहीं वास्तु दोष से भी होता है कैंसर, घर लेने से पहले कर लें जांच नहीं तो मंडरा सकता है ब्रेन से ब्लड कैंसर का खतरा

अब आप यही सोच रहे होंगे कि किसी बीमारी और वास्तु के बीच भला क्या संबंध? तो आपको बता दें कि कई बार जगह की कमीं या फिर किसी विशेष डिजाइन में बदलाव के चलते किसी जगह को ऊंचा और किसी जगह को नीचा बना दिया जाता है। इससे घर में सकारात्मक और नकारात्मक उर्जा का संतुलन बिगड़ जाता है जिसका प्रभाव सीधा वहां रहने वाले इंसान के स्वास्थ्य पर पड़ता है। हैरान कर देने वाली बात तो यह है कि इससे कैंसर भी हो सकता है।

Vastu Defects Can Lead To Diseases Like Cancer - तम्बाकू ही नहीं वास्तु दोष  से भी होता है कैंसर, घर लेने से पहले कर लें जांच नहीं तो मंडरा सकता है ब्रेन

अब हम आपको बताते हैं कि किन-किन स्थितियों में इंसान कैंसर की चपेट में आ सकता है। सबसे पहले बात करते हैं ब्रेस्ट कैंसर के बारे में, जिससे आजकल ज्यादातर महिलाएं ग्रसित हैं। इसके लिए घर की पूर्व दिशा और अग्नेय कोण (पूर्व-दक्षिण का कोना) मुख्य रूप से जिम्मेदार है। अगर इन दिशाओं में पानी का स्रतोत होता है, जैसे कि टंकी, कुंआ या बोरिंग इत्यादि तो ब्रेस्ट कैंसर की समस्या पैदा हो सकती है। घर की ये दोनों दिशाएं नीचा होने पर यह दिक्कत आ सकती है।

घर की दक्षिण दिशा या नैऋत्य कोण(दक्षिण-पश्चिम का कोना) में भूमिगत टैंक का होना सही नहीं है। इस दिशा और इस कोने का नीचा होना या ज्यादा बढ़ा हुआ होने पर यूट्रस कैंसर की समस्या पैदा हो सकती हैं।

अब गौर फरमाते हैं घर के वायव्य कोण (उत्तर और पश्चिम दिशा का कोना) की तरफ,यदि घर का यह हिस्सा बाकी हिस्सों से ऊंचा है तो यह आपके परिवार के लिए उचित नहीं है। इससे बे्रन कैंसर की दिक्कत आ सकती है। इसके साथ ही घर के अग्नेय कोण, नैऋत्य कोण और दक्षिण दिशा में पानी का स्रोत होना भी बे्रन कैंसर की वजह बन सकती है।

घर में कभी भी ईशान कोण (उत्तर-पूर्व का कोना) की तुलना में घर के अन्य कोणों का नीचा नहीं होना चाहिए। इससे ब्लड कैंसर की स्थिति पैदा हो सकती है। इसके अलावा नैऋत्य कोण में भूमिगत पानी का स्रोत होना भी इस बीमारी के लिए जिम्मेदार है।