दाद, खाज और खुजली को दूर करने के लिए आजमाये ये रामबाढ़ और अचूक इलाज

0


आम भाषा में एक्ज़िमा को ” दाद ” व छाजन भी खा जाता है ! त्वचा में किसी भी आंतरिक या बाह्य विकृति ( इंफ्लेमेंटरी रिएक्शन ) से उत्पन्न शोध की प्रक्रिया ” एक्ज़िमा होती है ! चिकित्सक इस विकृति को “एक्ज़ीमेंट्स दाद ” कहते है !

बैक्टीरिया के संक्रमक से कॉन्टेक्ट , चकते के रूप में डिस्कोएड , शिराओ के शोध से वेरिकोस , अधिक वसा का स्त्राव करने वाला सिबोरिक एक्ज़िमा होता है ! अधिकांश शिशु एंटोपिक एक्जिमा से पीड़ित होते है !

लक्षण : एक्जिमा के प्रारम्भ में शरीर के किसी भाग में तीव्र खुजली होती है ! निरंतर खुजली होने और खुजलाने से त्वचा के लाल पढ़ जाने से शोथ सूजन की विकृति दिखाई देती है ! फिर उस भाग में नन्हे नन्हे दाने से उभर आते है ! जल्दी ही उन दानो में शोथ छाले बन जाते है ! इन चालो से निरन्तर स्त्राव होने लगता है ! स्त्राव के साथ तीव्र जलन , पीड़ा खुजली होती है !

एलर्जिक कॉन्टेक्ट के कारण अधिकांश स्त्री – पुरुष एक्जिमा से अधिक पीड़ित होते है ! रोगी को एलर्जी घड़ी की चेन , जूते, सेंडल , नेकलेस , नेल पॉलिश , से हो सकती है ! कुछ नवयुवतियां विभिन्न सब्जियों , मसलो के स्पर्श से एलर्जी से पीड़ित होती है और एक्जिमा का शिकार बन जाती है ! कुछ अन्य कारण इस प्रकार है !

कारण :

★ गर्मी के मौसम में शरीर में बहुत ज्यादा पसीना आता है और जब यह पसीना त्वचा पर सूख जाता है तो खुजली पैदा हो जाती है।
★ बाहर निकलने पर जब धूल-मिट्टी शरीर पर लगती है तो भी खुजली पैदा हो जाती है।
★ रोजाना न नहाना भी खुजली होने का बहुत बड़ा कारण है।
★ सर्दी के मौसम में ठंड़ी हवा जब शरीर में लगती है तो शरीर की त्वचा सूखकर खुरदरी सी हो जाती है और उसमें तेज खुजली होने लगती है

घरेलू उपचार :

  • कटहल के पत्तो पर घी लगाकर एक्जिमा पर बांधने से लाभ होता है !
  • 10 ग्राम आक का दूध 50 ग्राम सरसो के तेल में पका कर रखें ! इस लेप को एक्जिमा पर लगाने से रोग नष्ट होता है !
  • अजवायन को जल के साथ पीसकर लेप करने से दाद कुछ ही दिनों में नष्ट हो जाता है !
  • प्याज के बीज से लेप करने से 5-6  सप्तह में दाद ठीक हो जाता है !
  • एक मिलीग्राम भुना हुआ जीरा और परवल के पत्तो को जल में उबालकर काढ़ा बनाये ! इस काढ़े से दाद पर लेप करने से रोग दूर होता है !
  • नीम के पत्तो को जल में उबालकर एक्जिमा को स्वच्छ करें ! फिर उस पर निम्बू का रस और तुलसी के पत्तो को पीसकर लेप करने से लाभ होता है !
  • नीम के गुलाबी कोमल पत्ते लेकर तेल में काफी देर तक पकाए ! इस तेल को एक्जिमा पर लगाने से बहुत लाभ होता है !
  • नारियल का तेल और कपूर अच्छी तरह मिलाकर  लगाएं !
  • राई को सिरके से साथ पीसकर लेप करें !
  • पालक की जड़ निम्बू के रस में पीसकर लगाने से एक्जिमा नष्ट होता है !
  • तुलसी के पत्तो के रस में घी को कांसे के बर्तन में अच्छी तरह घोंटकर लेप करने से एक्जिमा ठीक होता है !
  • कुटकी और चिरायता को हल्का सा गर्म करके एक्जिमा को साफ़ करें !
  • एक्जिमा को थोड़ा सा खुजलाकर आम के डंठल से निकले रस को लगाने से दाद जल्दी ठीक हो जाता है !
  • कूठ के चूर्ण को मक्खन के साथ अच्छी तरह मिलाकर हल्के हल्के मालिश करने से बहुत जल्द फायदा मिलता है !

विज्ञापन