नींद न आने जैसी गंभीर बीमारी को तुरंत करें दूर, नही तो स्वास्थ्य पर हो सकता है काफी बुरा असर

0


आज के समय में ज्यादा शिक्षित लोग , व्यवसायी और मानसिक तनाव से पीड़ित स्त्री-पुरुष नींद न आना बीमारी का ज्यादा शिकार होते है ! नींद न आने की बीमारी वैज्ञानिक युग में तेज़ी से बढ़ रही है ! नींद के लिए रोगी ‘स्लीपिंग पिल्स ‘ लेकर सोते है ! इन गोलियों से शुरुआत में नींद तो आ जाती है , लेकिन कुछ समय बाद अधिक गोलियां खा लेने पर भी नींद नहीं आती !

नींद के लिए रोगी इतने विचलित हो उठते है कि अधिक मात्रा में गोलियां खाकर आत्महत्या कर लेते है ! नींद कि बीमारी गहरी चिंता से हो सकती है !

लक्षण : रोगी को देर रात नींद नहीं आती ! कुछ रोगी जल्दी सो जाते है तो जल्दी उनकी आँखें खुल जाती है और फिर सारी रात करवट बदलते गुजरती है ! नींद ना आने से स्वभाव चिड़चिड़ा हो जाता है ! शरीर में अलग अलग हिस्सों में दर्द , सिर में भारीपन , अंगड़ाई , और आँखों में दर्द के लक्षण दिखाई देते है ! चुस्ती और फुर्ती ख़तम हो जाती है ! कुछ घरलू उपचार नींद न आने कि बीमारी को दूर करने के लिए !

घरेलू उपचार :

  • रात को भैंस का दूध में मिश्री मिलाकर पीने से गहरी नींद आ जाती है !
  • आम का रस 250 ग्राम , मिश्री मिलाकर पीने से अच्छी नींद आती है !
  • सोने से एक घंटे पहले दही कि मिट्ठी लस्सी पीने से अच्छी नींद आती है !
  • शाम को गाजर का रस 250 पीने से नींद न आने कि बीमारी दूर हो जाती है !
  • जायफल को गाय के घी में घिसकर तलवो और पलकों पर लगाने से अच्छी नींद आती है !
  • शाम को घूमने से नींद न आने कि बीमारी दूर हो जाती है !

विज्ञापन