Breaking News

परीक्षा पर चर्चा के जरिये मार्च में छात्रों से संवाद करेंगे पीएम मोदी

नई दिल्ली, 18 फरवरी (आईएएनएस)। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने गुरुवार को परीक्षा पर चर्चा-2021 के चौथे संस्करण की शुरुआत की घोषणा की है। इस कार्यक्रम के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा स्कूली छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों के साथ संवाद स्थापित किया जाएगा।

विद्यार्थियों के परीक्षा के तनाव को कम करने के लिए परीक्षा पर चर्चा का चौथा संस्करण मार्च 2021 में आयोजित किया जा रहा है।

परीक्षा पर चर्चा एक बहुप्रतीक्षित वार्षिक कार्यक्रम है, जहां प्रधानमंत्री अपनी विशिष्ट शैली के जरिये लाइव कार्यक्रम में छात्रों को परीक्षा के तनाव से निपटने और संबंधित क्षेत्रों से संबंधित सवालों के जवाब देते हैं। केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल ने बताया कि इस बार कार्यक्रम वर्चुअल आयोजित किया जाएगा। कक्षा 9 से 12 तक के स्कूली छात्रों से परीक्षा के तनाव से निपटने से संबंधित प्रश्न माईगॉव प्लेटफॉर्म के माध्यम से आमंत्रित किए जाएंगे। चयनित प्रश्नों को कार्यक्रम में शामिल किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि देशभर के स्कूली छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों का चयन एक ऑनलाइन रचनात्मक लेखन प्रतियोगिता के माध्यम से किया जाना है। इसके लिए विशेष रूप से माईगॉव पर प्लेटफॉर्म तैयार किया गया है। प्रतियोगिता में छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों के लिए अलग-अलग विषय निर्धारित किए गए हैं। आवेदक इस प्लेटफॉर्म पर अपना प्रश्न भी पूछ सकते हैं।

Advertisements

चयनित प्रतिभागी अपने संबंधित राज्य और संघ राज्य क्षेत्र मुख्यालय से ऑनलाइन कार्यक्रम में भाग लेंगे। यह एक स्पेशल पीपीसी किट (परीक्षा पर चर्चा किट) के साथ प्रस्तुत किया जाएगा। ऑनलाइन रचनात्मक लेखन प्रतियोगिता के लिए पोर्टल 14 मार्च 2021 तक खुला रहेगा।

रचनात्मक लेखन प्रतियोगिता के लिए छात्रों को जो विषय दिए गए हैं उनमें, परीक्षाओं को त्योहारों की तरह मनाएं, अपने पसंदीदा विषय के एक त्यौहार को दर्शाने वाला दृश्य बनाने को कहा गया है। दूसरे विषय के अंतर्गत छात्रों को अतुल्य भारत, यात्रा और अन्वेषण पर लिखने को कहा गया है।

इसके अलावा स्वादिष्ट व्यंजन, यादगार पल, एक यात्रा समाप्त होती है, दूसरी की शुरूआत होती है, अपने स्कूल के जीवन के सबसे यादगार अनुभवों का वर्णन करें, आकांक्षाएं और उन्हें पूरा करना, जैसे विषय भी लिखने के लिए छात्रों को दिए गए हैं।

–आईएएनएस

जीसीबी/एएनएम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *