बहुत कम ही लोग जानते होंगे पांडवों ने द्रौपदी के अलावा इनकी भी मांग में भरा था सिंदूर

84

लाइव हिंदी खबर :- महाभारत के बारे में हम सभी को पता है। बचपन से हम पांडवों और कौरवों की कहानियां सुनते आ रहे हैं। हम जानते हैं कि द्रौपदी की शादी पांचों पांडवों से हुई थी। पांचों पांडवों से विवाह करने के कारण द्रौपदी को पांचाली कहा जाता था। द्रौपदी पांडवों की पत्नी है यह तो जगजाहिर है, लेकिन क्या आपको पता है कि द्रौपदी के अलावा भी पांडवों ने दूसरी शादी की थी। आज हम आपको पांचों पांडवों की अन्य पत्नियों के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं।

पांडवों ने द्रौपदी के अलावा इनकी भी मांग में भरा था सिंदूर, लोगों को नहीं पता आज भी यह बात

  • सबसे पहले बात करते हैं युधिष्ठिर के बारे में। युधिष्ठिर ने द्रौपदी के बाद देविका से शादी की थी। देविका उनकी दूसरी पत्नी थीं। युधिष्ठिर और देविका के पुत्र का नाम धौधेय था।
  • भीम ने भी हिडिम्‍बा और बलंधरा नामक दो स्त्रियों से विवाह किया था। हिडिम्‍बा ने घटोत्कच और बलंधरा ने सर्वंग नामक पुत्र को जन्म दिया।

  • अर्जुन ने भी द्रौपदी के सुभद्रा, उलूपी और चित्रांगदा नामक तीन स्त्रियों से विवाह किया था। सुभद्रा ने अभिमन्यु, उलूपी ने इरावत और चित्रांगदा ने वभ्रुवाहन नामक पुत्रों को जन्म दिया।

  • अब बात करते हैं नकुल की। नकुल ने भी द्रौपदी के अलावा करेणुमती नामक स्त्री से विवाह किया जिन्होंने निरमित्र नामक पुत्र को जन्म दिया।
  • सहदेव ने भी विजया से शादी की थी और दोनों के बेटे का नाम सुहोत्र था।

हालांकि इन सभी की पहली पत्नी द्रौपदी ही थीं। द्रौपदी ने इन पांचों के पुत्र संतान को भी जन्म दिया। द्रौपदी से जन्मे युधिष्ठिर के पुत्र का नाम प्रतिविन्ध्य, भीम के पुत्र का नाम सुतसोम, अर्जुन के पुत्र का नाम श्रुतकर्मा था, नकुल के पुत्र का नाम शतानीक और सहदेव के पुत्र का नाम श्रुतसेन था।

भले ही पांडवों ने द्रौपदी के अलावा दूसरी और तीसरी शादी भी की, लेकिन आज भी ज्यादातर लोग पांडवों की पत्नी के रूप में केवल द्रौपदी को ही जानते हैं। उनकी बाकी स्त्रियों के बारे में आज भी अधिकांश लोगों को पता ही नहीं है।