पुलिस को बंधक बनाने की अपील वाले बयान पर गुरनाम सिंह ने दी सफाई

0


गुरनाम सिंह ने कहा कि उन्होंने हरियाणा में लोगों से अपील की है कि आंदोलन में शामिल किसी भी किसान की गिरफ्तारी के लिए अगर दिल्ली पुलिस किसी गांव में जाती है तो वो उनका घेराव करें और उन्हें तब तक वापस जाने ना दें जब तक सरकार अपनी दमनकारी नीति छोड़ ना दे। उन्होंने कहा कि किसानों का आंदोलन शांतिपूर्ण चल रहा है इसलिए सरकार दमनकारी नीति का सहारा ले रही है।

देश की राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर स्थित धरना स्थल पर प्रदर्शनकारियों की तादाद घटने और किसान आंदोलन कमजोर पड़ने को लेकर पूछे गए आईएएनएस के सवाल पर गुरनाम सिंह चढ़ूणी ने कहा कि पिछले दिनों जगह-जगह महापंचायत हुई जिसके कारण बॉर्डर पर लोगों की संख्या कम हो गई, लेकिन अब घटनास्थल पर ज्यादा से ज्यादा लोगों को इकट्ठा करने पर जोड़ दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आंदोलन कमजोर नहीं हुआ है और यह आंदोलन तब तक चलता रहेगा जब तक इसका मकसद पूरा नहीं होगा।

आंदोलन के मकसद को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि सरकार जब तक तीनों कृषि कानूनों को वापस नहीं ले लेगी तब तक आंदोलन का मकसद पूरा नहीं होगा।

सरकार से आगे बातचीत की संभावना के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हम बातचीत के लिए तैयार हैं। सरकार जब बुलाएगी तब हम जाएंगे।

चढ़ूणी ने किसान आंदोलन को मजबूत करने के लिए दलितों और आम जनता से इसमें शामिल होने की अपील की है। उन्होंने कहा कि आंदोलन दरअसल शोषक और शोषित वर्ग के बीच की लड़ाई है।

–आईएएनएस

पीएमजे-एसकेपी

विज्ञापन