Breaking News

पूर्व मुख्य न्यायाधीश कोहली – LHK MEDIA ~ LIVE HINDI KHABAR

नई दिल्ली, 23 फरवरी(आईएएनएस)। सिक्किम हाईकोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायधीश जस्टिस प्रमोद कोहली और दिल्ली हाईकोर्ट के पूर्व न्यायाधीश एमसी गर्ग ने मंगलवार को दिल्ली दंगों के पीछे सुनियोजित साजिश होने का दावा करती एक किताब का विमोचन किया। रिटायर्ड जस्टिस कोहली ने कहा कि जम्मू-कश्मीर से होने के नाते वह जानते हैं कि दंगा क्या होता है।

उन्होंने कहा, कश्मीर में बहन-बेटियों की अस्मत लूटी गई। तमाम लोगों की हत्याएं हुईं। दिल्ली दंगा पीड़ितों की दास्तां सुनकर ऐसा लग रहा है कि इनके साथ इंसाफ नहीं हो रहा है। हम न्याय और आर्थिक सहायता के लिए पीड़ित लोगों की बात सरकार तक पहुंचाएंगे। वहीं, दिल्ली उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश एमसी गर्ग ने कहा कि वे दिल्ली दंगा के पीड़ित परिवारों की लड़ाई लड़ेंगे।

पुस्तक के लेखक और वरिष्ठ टीवी पत्रकार मनोज वर्मा ने बताया कि दिल्ली के दंगों के पीछे अंतर्राष्ट्रीय साजिश थी। साजिश कई महीने पहले रची गई थी।

पुस्तक के अन्य लेखक वरिष्ठ अधिवक्ता संदीप महापात्रा ने बताया कि जब कोर्ट में सीएए को लेकर 150 से ज्य़ादा पिटिशन लगी हुई थी, तो उस समय योजनाबद्ध तरीके से कराए गए दंगे कानून को प्रभावित करने की कोशिश थी।

वहीं, मोनिका अरोड़ा ने कहा कि जिस तरह दिल्ली में दंगे भड़काए गए, उसी तरह इस साल कृषि कानूनों को लेकर भी किसानों को भड़काया जा रहा है। ग्रेटा थनबर्ग की टूलकिट यदि बाजार में नहीं आई होती तो फिर से दिल्ली दंगों जैसी स्थिति पैदा हो सकती थी। दिल्ली दंगों और किसान आंदोलन के बीच काफी समानता है। दोनों में एक ही तरह का नेतृत्व काम कर रहा है। इन दोनों आंदोलनों में कई चेहरे एक जैसे हैं।

कॉल फॉर जस्टिस के संयोजक नीरज अरोड़ा ने दिल्ली दंगों की साजिश और उसके कारणों के बारे में विस्तार से बताया। वरिष्ठ पत्रकार मनोज वर्मा और सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता संदीप महापात्रा की लिखित 450 पेज की एनाटोमी ऑफ ए प्लांट रायट नामक पुस्तक में दिल्ली दंगों के पीछे बड़ी साजिश होने का दावा किया गया है।

–आईएएनएस

एनएनएम/एसजीके

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *