प्रतिबंधित पाक संगठन ने 11 पुलिसकर्मियों को रिहा किया

105



इस्लामाबाद, 19 अप्रैल (आईएएनएस)। पाकिस्तानी के गृहमंत्री शेख राशिद ने सोमवार को घोषणा की कि तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान (टीएलपी) के साथ सफल वार्ता के बाद, प्रतिबंधित संगठन ने एक दिन पहले लाहौर में बंधक बनाए गए 11 पुलिसकर्मियों को रिहा कर दिया है।

एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने एक वीडियो संदेश में कहा, पहले दौर की वार्ता सफल रही है जिससे टीएलपी को बंधक बनाए गए पुलिसकर्मियों को छोड़ना पड़ा है। बातचीत का दूसरा दौर सेहरी के बाद शुरू होगा।

11 बंधकों में एक पुलिस उपाधीक्षक शामिल थे।

सूत्रों के अनुसार, रविवार को लाहौर के मुल्तान रोड पर टीएलपी सदस्यों और पुलिस के बीच झड़पें हुईं, जिसमें कुछ समूह समर्थक मारे गए और 100 से अधिक घायल हो गए।

कम से कम तीन दिनों के लिए, टीएलपी प्रदर्शनकारियों ने मुख्य राजमार्ग को बंद कर दिया था।

गुस्साई भीड़ ने सुरक्षा बलों के साथ हिंसक संघर्ष किया, जिसके परिणामस्वरूप तीन पुलिस अधिकारी मारे गए, जबकि टीएलपी प्रदर्शनकारियों के हाथों हुए अत्याचार और हमले के कारण सैकड़ों अन्य लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

14 अप्रैल को, पाकिस्तान सरकार ने टीएलपी पर आतंकवाद विरोधी कानून के तहत प्रतिबंध लगाने का फैसला किया था।

हालांकि, समूह ने सरकार के साथ एक समझौते पर पहुंचने के बाद विरोध को समाप्त कर दिया, यह दावा करते हुए कि उसकी सभी चार मांगों को स्वीकार कर लिया गया है।

–आईएएनएस

आरएचए/एएनएम