प्रदूषण को मात देने के लिए करे आप इन जड़ी-बूटियों का इस्तेमाल

46

लाइव हिंदी खबर (हेल्थ कार्नर ) :-  मौसम में बदलाव के कारण होने वाली एलर्जी व स्मॉग से बचाव के लिए कई तरह की जड़ी-बूटियां आयर्वुेद में हैं। इन्हें नियमित लेने से इसके दुष्प्रभाव रोकने के अलावा सांस संबंधी परेशानियों में भी लाभ होता है।

इन जड़ी-बूटियों से प्रदूषण को दें मात, रहे स्वस्थ

हल्दी : इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट प्रदूषण के जहरीले प्रभावों से फेफड़ों को बचाता है। इसे घी के साथ खाने से खांसी और गुड़ व मक्खन के साथ लेने से अस्थमा में राहत मिलती है। कफ निकालने के लिए हल्दी, गुड़ व प्याज के रस को मिलाकर लें। एक गिलास दूध में थोड़ी हल्दी मिलाकर लें।

आंवला :
एक आंवले में तीन संतरे के बराबर विटामिन-सी है जो उबालने पर भी नष्ट नहीं होता है। इसे खाने से खून साफ होता है व इम्यूनिटी बढ़ती है। बाहरी प्रदूषण से लड़ता है। रोगों से बचाव के लिए इसे रोजाना खाएं।

Secret Of Beautiful Hair Is Hidden In These Ayurvedic Herbs - इन आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों में छिपा है काले, घने और सुंदर बालों का राज | Patrika News

एक साथ आंवला और हल्दी लें
आंवला व हल्दी पाउडर बराबर मात्रा में लेकर मटर के दाने के बराबर गोली बना लें और गुनगुने पानी के साथ लें। इसे आयुर्वेद में ‘निशा अमलकी’ कहते हैं।

गिलोय– इसका काढ़ा या वटी शरीर में सफेद रक्तकणिकाओं की संख्या के साथ प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है जिससे प्रदूषण का असर घटता है।