मप्र में भाजपा और कांग्रेस दो-दो हाथ करने को तैयार, बजट सत्र में हंगामें के आसार

0


भोपाल, 23 फरवरी (आईएएनएस)। मध्यप्रदेश में विधानसभा का बजट सत्र चल रहा है। सत्ताधारी दल भाजपा और विपक्षी दल कांग्रेस, मुद्दों को लेकर दो-दो हाथ करने को तैयार है। दोनों ही दलों ने अपने विधायकों को सदन में पूरी मजबूती से अपनी बात रखने के लिए तैयार रहने को कहा है।

सियासी तौर पर विधानसभा का बजट सत्र काफी महत्वपूर्ण है, क्योंकि कोरोना बीमारी के कारण लगभग एक साल के अंतराल के बाद सदस्यों की पूर्ण क्षमता के साथ यह सत्र हो रहा है। यही कारण है कि सत्ता पक्ष भाजपा और विपक्ष कांग्रेस दो-दो हाथ करने की तैयारी में हैं। दोनों ही दलों की विधायक दल की बैठक हो चुकी है और उसमें रणनीति भी तैयार हो गई है।

भाजपा विधायक दल की बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सदस्यों से कहा कि, विपक्ष सदन को उलझाने की हर संभव कोशिश करेंगे, वह बिना तर्क के बात रखेंगे, जबकि हमारे पास जवाब देने के लिए बहुत कुछ है, इसलिए जरूरी है कि सदस्य पूरी दृढ़ता के साथ सदन में अपनी बात रखें और विपक्ष के सवालों का जवाब भी दें, ऐसा इसलिए क्योंकि कोरोना काल में हमारी सरकार ने बेहतर काम किया है।

संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने विधायकों से राज्यपाल के अभिभाषण और विधेयकों पर होने वाली चर्चा में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने की हिदायत दी।

वहीं दूसरी ओर कांग्रेस विधायक दल की बैठक में कमलनाथ ने विधायकों से कहा कि हमारे पास 96 विधायक हैं और यह मजबूत विपक्ष है, इसलिए जरूरी है कि सदन में जनहित के मुद्दों को पूरी दमदारी से उठाएं और एकजुटता का प्रदर्शन करें।

इतना ही नहीं ज्यादा से ज्यादा समय सदन में उपस्थित रहकर चर्चा में हिस्सा भी लें और सरकार की कार्यप्रणाली को बेनकाब भी करें।

विधानसभा का बजट सत्र शुरू हुए दो दिन हो गए हैं। पहले दिन विधानसभा अध्यक्ष के निर्वाचन और राज्यपाल के अभिभाषण हुआ, वही दूसरे दिन दिवंगतों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। बुधवार को सदन का तीसरा दिन है और तीसरे दिन से हंगामा होने के आसार पूरे हैं।

–आईएएनएस

एसएनपी/एएनएम

विज्ञापन