Breaking News

मप्र में भाजपा नगरीय निकाय चुनाव का घोषणापत्र जनता की राय से बनाएगी : शर्मा

कटनी, 23 फरवरी (आईएएनएस)। भाजपा की मध्यप्रदेश इकाई के अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने कहा है कि आगामी समय में होने वाले नगरीय निकाय के चुनाव का घोषणा-पत्र पार्टी का नहीं हेागा, बल्कि जनता की सोच, जरूरत और जनमत से तैयार किया जाएगा।

शर्मा ने अपने संसदीय क्षेत्र खजुराहो के कटनी में संवाददाताओं से चर्चा करते हुए कहा कि नगर निकायों के लिए पार्टी का जो घोषणापत्र होगा, वह भाजपा का नहीं, बल्कि जनता की सोच से, जनमत से तैयार होगा। क्षेत्र के विकास के लिए प्रबुद्धजन क्या चाहते हैं, इसका समावेश पार्टी के घोषणापत्र में किया जाएगा। सभी नगरीय निकायों के लिए पार्टी का घोषणा पत्र जनता की राय पर ही आधारित होगा।

उन्होंने कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष कमल नाथ के उस बयान पर तंज कसा, जिसमें कमल नाथ ने कहा था कि कांग्रेस का मुकाबला भाजपा के संगठन से है। शर्मा ने कहा कि कमल नाथ के इस बयान से दो संकेत मिलते हैं। पहला तो यह कि कमल नाथ ने अभी से निकाय चुनाव में अपनी हार स्वीकार कर ली है और दूसरा यह कि उन्होंने अभी से इस हार का ठीकरा कार्यकर्ताओं के सिर फोड़ने की तैयारी कर ली है।

उन्होंने कहा कि भाजपा का कार्यकर्ता डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी के रास्ते पर चलता है, जिन्होंने पं. नेहरू को टिप्पणी का जवाब देते हुए कहा था, हम उस मानसिकता को ही समाप्त कर देंगे, जो जनसंघ को खत्म करने की बात करती है। हमारे कार्यकर्ताओं ने विधानसभा उपचुनाव में भी टीम भावना से काम करते हुए कमल नाथ की चुनौती का जवाब दिया था और अब निकाय चुनावों में भी हमारे कार्यकर्ता प्रचंड जीत दर्ज कर इस चुनौती का जवाब देंगे।

Advertisements

शर्मा ने कहा कि कैडर बेस्ड पार्टी होने के कारण भाजपा संगठन हमेशा चुनाव के मूड में रहता है। सभी प्रकार के चुनावों के लिए भाजपा का कार्यकर्ता सदैव तैयार और तत्पर रहता है। हमारा मूलमंत्र है, बूथ जीता तो चुनाव जीता, इसलिए बूथ सशक्तीकरण के अभियान में हमारा संगठन मजबूती से काम कर रहा है और भाजपा नेतृत्व का हमेशा प्रयास रहता है कि बूथ के कार्यकर्ता को अधिक प्रभावी तरीके से चुनाव में कैसे उतारें।

शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री के द्वारा चलाई गई आयुष्मान योजना में पूरे देश के गरीब परिवारों को पांच लाख तक की आर्थिक सहायता मिल रही है। कटनी एवं पन्ना में भी बड़ी संख्या में आयुष्मान कार्ड बने हैं।

उन्होंने कहा, हमारा यह प्रयास है कि जो लोग आयुष्मान कार्ड नहीं ले पाए हैं, उन तक यह कार्ड पहुंचे। केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं से लोगों के जीवन में कई प्रकार के बदलाव आए हैं। हम प्रत्येक बूथ पर ऐसे लोगों से संपर्क का अभियान चलाएंगे।

भाजपा के संगठन में पदाधिकारियों के लिए आयु-सीमा तय किए जाने के सवाल पर शर्मा ने कहा, हमने प्रयास किया था कि 40 वर्ष की आयु वाले ही मंडल अध्यक्ष बनें। भाजपा एक सिस्टम पर चलती है और सभी जगहों पर इसका पालन हुआ।

–आईएएनएस

एसएनपी/एसजीके

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *