Breaking News

महाराष्ट्र कांग्रेस (लीड-1) – LHK MEDIA ~ LIVE HINDI KHABAR

भंडारा, 18 फरवरी (आईएएनएस)। महाराष्ट्र कांग्रेस ने गुरुवार को अमिताभ बच्चन और अक्षय कुमार को चेतावनी दी कि वह उनकी फिल्मों की शूटिंग राज्य में नहीं होने देगी, क्योंकि मौजूदा सार्वजनिक मुद्दों पर वे चुप्पी साधे हुए हैं।

राज्य कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार ने पेट्रोल-डीजल-गैस की कीमतों में तेजी से बढ़ोतरी की है। उधर, किसान पिछले तीन महीनों से दिल्ली की सीमाओं पर कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं, मगर सरकार उनकी बात सुनने को तैयार नहीं है।

पटोले ने कहा कि इन गंभीर संकटों के बीच अमिताभ बच्चन और अक्षय सहित कई हस्तियां, जिन्होंने विभिन्न मुद्दों पर पहले यानी कांग्रेस की अगुवाई वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार के खिलाफ आवाज उठाई थी, वे इस समय बिल्कुल चुप हैं। इसलिए इन लोगों की फिल्मों की शूटिंग राज्य में नहीं होने दी जाएगी।

महाराष्ट्र कांग्रेस का यह बयान ऐसे समय आया है, जब देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में रोजाना इजाफा हो रहा है। इस वजह से विपक्षी पार्टियां विरोध प्रदर्शन करते हुए पेट्रोल-डीजल के दाम कम करने की मांग कर रही हैं। अब पेट्रोल की कीमतों और आम लोगों से जुड़े विभिन्न मुद्दों को लेकर प्रदेश कांग्रेस ने बॉलीवुड हस्तियों पर हमला बोला है।

प्रदेश कांग्रेस प्रमुख ने कहा, मोदी सरकार ने पेट्रोल की कीमतों को बढ़ाकर 100 रुपये तक पहुंचा दिया है, घरेलू रसोई गैस सिलेंडर की कीमत भी 800 रुपये तक जा पहुंची है। बेतहाशा बढ़ रही महंगाई ने आम जनता का जीना मुश्किल कर दिया है। उधर, देश के किसान तीन नए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग करते हुए दिल्ली की सीमाओं पर लगभग तीन महीने से प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन कार्पोरेट घरानों को फायदा पहुंचाने के लिए सरकार अपनी जिद पर अड़ी है।

उन्होंने कहा, यूपीए सरकार के दौरान रही ईंधन की दरों की तुलना में, भाजपा शासन के सात वर्षो में ईंधन की कीमतें अब लगभग दोगुनी हो चुकी हैं। उस समय इन सभी हस्तियों ने सरकार के खिलाफ बात की थी, लेकिन अब वे भाजपा से डरकर चुप्पी साधे हुए हैं।

प्रदेश कांग्रेस प्रमुख किसान संगठनों के साथ एकजुटता दिखाते हुए चार घंटे लंबे देशव्यापी रेल-रोको आंदोलन के समर्थन में भंडारा में एक बैलगाड़ी-सह-ट्रैक्टर रैली में बोल रहे थे।

उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि अब ये हस्तियां महंगाई, ईंधन की बढ़ती कीमतों और किसानों पर हो रहे अत्याचार पर कोई बात नहीं कर रहे हैं। ऐसा क्यों?

पटोले ने कहा, यूपीए सरकार एक लोकतांत्रिक और संवैधानिक प्रशासन थी, यही कारण है कि अमिताभ बच्चन, अक्षय कुमार, सुनील शेट्टी और कई अन्य सेलेब्स इसके खिलाफ बिना डर के अपनी आवाज उठा रहे थे। आज, जब उनसे वही बात दोहराने की उम्मीद की जाती है, तो वे चुप्पी साधे हुए हैं और भाजपा की कठपुतली बन गए हैं।

कांग्रेस नेता ने कहा, ये भारतीय सेलेब्स तब भी शांत रहे, जब भाजपा और इसके आईटी सेल ने किसानों के विरोध प्रदर्शन की निंदा करते हुए उन्हें आतंकवादी, खालिस्तानी, नक्सलवादी आदि के रूप में चिह्न्ति किया, बल्कि भाजपा और उसके आईटी सेल के इशारे पर उन्होंने किसान विरोधी ट्वीट का सहारा लिया। क्या सेलेब्स भाजपा आईटी सेल के तोते बन गए हैं?

पटोले की चेतावनी राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख द्वारा किए एक खुलासे के दो दिन बाद सामने आई है। देशमुख ने कहा था कि मुंबई पुलिस की एक प्राथमिक जांच में सामने आई है कि हाल ही में इन सेलेब्स ने जो किसान विरोधी ट्वीट्स किए थे, उसमें भाजपा आईटी सेल के प्रमुख और 12 अन्य की संलिप्तता की बात सामने आई है।

–आईएएनएस

एकेके/एसजीके

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *