ये हैं देश की वो 5 जगहें जहां भारतीयों को आना है मना, ‘Indians are not allowed’ का लगा रहता है बोर्ड, जानिए क्यों

584

ये है देश की वो 5 जगहें जहां भारतीयों को आना है मना, ‘Indians are not allowed’ का लगा रहता है बोर्ड

लाइव हिंदी खबर :- आपको जानकर हैरानी होगी कि भारत में ऐसी 5 जगहें हैं जहां भारतीयों का ही प्रवेश निषेध हैं। हैरानी तो तब ज्यादा होती है जब यह पता चलता है कि भारत में इन 5 जगहों के मालिक इंडियन ही हैं इसके बावजूद यहां केवल विदेशियों को ही आने की इजाजत है भारतियों का यहां आना मना है। आईए आपको बताते हैं भारत में ऐसी ही कुछ जगह के बारे में।

लिस्ट में पहला होटल है चेन्नई का है जहां केवल उन्हीं कस्टमर्स को आने दिया जाता है जिनके पास विदेशी पासपोर्ट होता है। भारतीयों को होटल में न आने देने के नियम को यहां सख्ती से लागू किया गया है और लोग उसका पालन भी करते हैं।

गोआ भारत का एक ऐसा राज्य है जहाँ अनगिनत ‘समुद्र तट’ हैं, जहाँ की स्वच्छंद व उन्मुक्त लाइफ स्टाइल पर्यटकों को गोआ की ओर खींच लाती है। गोआ में कई समुद्री बीचेज पर भारतीयों का जाना मना है। ये सभी बीच विदेशियों के लिए ही रिज़र्व होता है। भारतीयों को प्रतिबंधित करने का कारण दिया गया है कि यहां आने वाले विदेशी पर्यटक नहीं चाहते है कि उन्हें बिकनी में देखकर भारतीय सीटी मारे या कुछ गंदी हरकतें करें।

बंगलुरू का यह होटल काफी चर्चा का विषय था यहां खासकर जापानी लोगों के लिए था। इसको लेकर शिकायत की गई थी होटल का स्टाफ यहां इन्दिंस को नहीं आने देता। हालांकि बाद में नस्लीय भेदभाव करने की वजह से ग्रेटर बंगलुरू सिटी कॉरपोरेशन ने इसे बंद करवा दिया और अब यहां ऐसा कोई होटल नहीं है।

हिमाचल प्रदेश के कसोल में एक कैफे है इसे लेकर 2015 में विवादों फंसा था। यहां के मालिक ने भारतीयों को खाना सर्व करने से मना कर दिया था जिसके बाद सोशल मीडिया पर इस बात को लेकर काफी बवाल हुआ था। बताया जाता था कि कैफे के बाहर भी बोर्ड लगा दिया गया था कि भारतीय लोग यहां प्रवेश नहीं कर सकते लेकिन जब यहां की मालकिन से बात की गई तो उन्होंने बताया कि ऐसा कुछ नहीं है।

बीचों के शहर गोआ की तरह पुडुचेरी में भी ऐसे बीच हैं जहां भारतीयों के प्रवेश निषेध हैं। यहां के कुछ रेस्टोरेंट्स और बीच केवल विदेशियों के लिए हैं। यहां जाना है तो विदेशी पासपोर्ट दिखाकर ही एंट्री मिलती है।