लाखों रूपए किलो की दर से बिकता है यह अनोखा कीड़ा, फिर भी लोगों में खरीदने की लगी रहती होड़

5

यहाँ लाखों रूपए किलो की दर से बिकता है यासार्गुम्बा कीड़ा, फिर भी लोगों में खरीदने की लगी रहती होड़

लाइव हिंदी खबर :- दुनिया में महंगे चीजों की कोई कमी नहीं है। बाजार या फिर किसी शॅाप में जाने पर हमें एक से एक चीजें दिखाई देती है। इनमें से कुछ पॉकेट फ्रेंडली होते हैं तो वहीं कुछ बजट के बाहर होती है। आज हम आपको एक ऐसे ही महंगे चीज के बारे में बताएंगे जिसके बारे में सुनकर आप हैरान रह जाएंगे। हम यहां बात कर रहे हैं एक कीड़े की जो बेशकीमती है। जी, हां ये कीड़ा 26 से 30 लाख रुपए प्रति किलो की दर से बिकता है।

इतना महंगा के बावजूद लोगों में इसे खरीदने की होड़ लगी रहती है। आखिर क्या है इस कीड़े में जो इसे दुनिया का सबसे महंगा कीड़ा बनाता है? बता दें भूरे रंग के इस कीड़े की लंबाई करीब दो इंच होती है। ये कीड़ा हिमालय के दुर्लभ पहाड़ियों में पाया जाता है। दिखने में कुछ—कुछ पौधें जैसा लगता है। इसी वजह से लोग इसकी तलाश में दिन—रात जंगलों में भटकते रहते हैं। लोगों में इस कीड़े के प्रति पागलपन इस वजह से हैं क्योंकि इससे महंगी दवाई बनाई जाती है।

दरअसल इस कीड़े का उपयोग वियाग्रा की तरह होता है यानि कि शारीरिक क्षमता को बढ़ाने के लिए इस कीड़े का उपयोग किया जाता है। इसके अलावा सांस और गुर्दे की बीमारी के इलाज के लिए भी ये कीड़ा उपयोगी माना जाता है। यहीं कारण है कि यासार्गुम्बा नामक ये कीड़ा इतना महंगा होने के बावजूद लोग इसकी मुंहबोली कीमत लगाते हैं।

इसे लोग हिमालयी वियाग्रा के नाम से भी जानते हैं। इन कीड़ों की उम्र मात्र छह महीने की होती है। मरने के बाद ये कीड़े जंगलों में पौधों के बीच बिखरे पड़े रहते हैं। इन्हें इकट्ठा करने के बाद सूखाकर इसका पाउडर तैयार किया जाता है। इसकी सबसे बड़ी खासियत ये है कि इसके कोई साइड इफेक्ट नहीं है लेकिन दिल की बीमारी से पीड़ित लोगों के लिए ये जानलेवा साबित हो सकती है।