शतक लगाया, दोहरा शतक लगाया, फिर तिहरा शतक भी लगाया, आज 39 गेंदों में 102 रन बनाकर मचाया कोहराम, फिर भी नहीं हो रहा टीम इंडिया में वापसी

122


भारत में बहुत सारे खेल खेले जाते हैं, लेकिन क्रिकेट उनमे से सबसे अधिक प्रचलित है। क्योंकि इंडिया में लोग क्रिकेट देखना सबसे ज्यादा पसंद करते हैं। भारत में हमेशा कोई न कोई घरेलू मैच खेले जाते हैं और उसमे जो खिलाड़ी बेहतर प्रदर्शन करते हैं उन्हें टीम इंडिया के लिए खेलने का मौका दिया जाता है।

मयंक अग्रवाल

आपने ऐसे बहुत सारे भारतीय खिलाड़ियों को देखा होगा, जिन्होंने घरेलू क्रिकेट में हमेशा अच्छी बल्लेबाजी या गेंदबाजी की है, लेकिन फिर भी उन्हें टीम इंडिया के लिए खेलने का मौका नहीं दिया गया। इस वजह से उनके समर्थक कई बार चयनकर्ताओं को भी निशाने पर लिया, लेकिन इससे कोई फायदा हुआ नहीं। आज हम एक ऐसे ही भारतीय बल्लेबाज के बारे में बात करने जा रहे हैं, जिन्होंने हमेशा अच्छी बल्लेबाजी की है और अब उन्होंने तूफानी अंदाज में शतक भी लगाया है, लेकिन फिर भी टीम में उनकी वापसी नहीं हो पा रही है।

रोहित शर्मा ने इन 3 खिलाड़ियों को बताया अपना पसंदीदा क्रिकेटर, कहा – ये तो मुझसे भी बेहतरीन बल्लेबाज है

इस बल्लेबाज ने लगाया तूफानी शतक

इन दिनों इंडिया में एक टी-20 लीग खेला जा रहा है जिसका नाम महाराजा ट्रॉफी है। इस लीग में बहुत सारे क्रिकेटरों को अच्छी गेंदबाजी और बल्लेबाजी करते देखा गया है, जिस वजह से उम्मीद की जा रही है कि अब भारतीय टीम में उन्हें मौका मिल सकता है। इस लीग का 12वां मुकाबला बेंगलुरु ब्लास्टर्स और शिवामोग्गा स्ट्राइकर्स के बीच खेला गया।

उस मैच में बेंगलुरु ब्लास्टर्स टीम के कप्तान और ओपनर बल्लेबाज मयंक अग्रवाल ने तूफानी अंदाज में शतक लगाया है। उस शतकीय पारी के दौरान मयंक ने मैदान के चारों तरफ कई आकर्षक शॉट खेले, जिसमे 10 चौके और 6 गगनचुंबी छक्के शामिल थे, इसी वजह से उनकी टीम 9 विकेट के बड़े अंतर से मैच जीतने में कामयाब हुई।

गुपचुप तरीके से संन्यास लेने की तैयारी कर रहा ये भारतीय खिलाड़ी, अंतिम मैच में जड़ा था 12 छक्के

मयंक ने 39 गेंदों में जड़ा तूफानी शतक

शिवामोग्गा स्ट्राइकर्स के उस मुकाबले में मयंक अग्रवाल कुल 49 गेंदों पर 102 रनों की नॉट आउट पारी खेली। लेकिन शतक पूरा करने के लिए उन्होंने सिर्फ 39 गेंदों का सहारा लिया। उस मैच में मयंक अग्रवाल ने 10 चौके और 6 गगनचुंबी छक्के की मदद से 16 गेंदों में 76 रन बना दिए। उसके बाद उन्होंने 3 डबल और 20 सिंगल की मदद से 23 गेंदों में 26 रन बनाया। इस तरह मयंक अग्रवाल 102 रन बनाने के लिए मात्र 39 गेंदों का सहारा लिया।

शतक, दोहरा और तिहरा शतक भी लगा चुके हैं

मयंक अग्रवाल भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में 4 शतक लगाया है और उस दौरान उनके बल्ले से दो दोहरे शतक भी निकले हैं। इसके अलावा प्रथम श्रेणी क्रिकेट में मयंक ने कई यादगार पारियां खेली है, जिसमे एक तिहरा शतक भी शामिल है। मयंक ने साल 2017-18 के रणजी ट्रॉफी में कर्नाटक के लिए खेलते हुए महाराष्ट्र के खिलाफ एक मैच में 494 गेंदों पर 304 रनों की नॉट आउट पारी खेली थी। उस दौरान उन्होंने 28 चौका और 4 गगनचुंबी छक्का भी लगाया था।

धोनी के नाम जुड़ा है ये 5 काला धब्बा, चाहकर भी उस दर्दनाक पल को नहीं भुला पा रहे हैं