TOPNEWS : दिल्ली : 16 जनवरी से लगाई जाएगी कोरोना वैक्सीन, 89 वैक्सीन सेंटर तय

5

नई दिल्ली, 10 जनवरी (आईएएनएस)। दिल्ली में 12 से 14 जनवरी तक कोरोना वैक्सीन पहुंच जाएगी। दिल्ली में टीकाकरण के लिए लगभग एक हजार केंद्र तैयार किए जा रहे हैं। हालांकि केंद्र सरकार ने फिलहाल दिल्ली सरकार से 89 वैक्सीन सेंटर निर्धारित करने को कहा है, जिसे राज्य सरकार ने पूरा कर लिया है। दिल्ली में बनाए गए 89 वैक्सीन सेंटर में से 40 सेंटर सरकारी और 49 सेंटर प्राइवेट हॉस्पिटलों में होंगे।

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने रविवार को कहा, दिल्ली में पहले चरण में 89 साइटों पर कोरोना वैक्सीनेशन का काम होगा। 13 जनवरी तक कोरोना वैक्सीन दिल्ली पहुंच जाएगी और 16 जनवरी से टीकाकरण अभियान शुरू किया जायेगा। दिल्ली सरकार ने पूरी तैयारी कर ली है।

उन्होंने कहा कि टीकाकरण को लेकर दिल्ली में तैयारी पूरी हो चुकी है। अब हमें कोरोना वैक्सीन मिलने का इंतजार है। मु़फ्त वैक्सीन के विषय पर मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार के जवाब का हमें इंतजार है। दिल्ली सरकार लगातार केंद्र सरकार से यही आग्रह कर रही है कि देश में वैक्सीन सबको मु़फ्त दी जाएगी। फिलहाल हमारे पास इस इसके अतिरिक्त कोई सूचना अब तक नहीं आई है।

उन्होंने कहा, 2 लाख 25 हजार हेल्थ वर्कर्स को पहले चरण में कोरोना की वैक्सीन लगायी जाएगी। कोरोना काल में जिन टीचर्स ने फ्रंटलाइन वर्कर्स बन आगे आकर दिल्ली की सेवा की, दिल्ली सरकार ने उन्हें भी पहले चरण में शामिल किया है। केंद्र सरकार ने पूरे देश में 5000 वैक्सीन सेंटर निर्धारित किए हैं। उन्होंने कहा कि सभी वैक्सीन केंद्रों को किसी न किसी अस्पताल के साथ जोड़ा गया है। सभी केंद्रों पर 8-10 मेडिकल स्टाफ मौजूद होंगे।

सत्येंद्र जैन ने बताया कि कोरोना का टीका सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों को लगाया जाएगा। इसके बाद फ्रंटलाइन वर्कर जैसे पुलिस, सफाई कर्मचारी, जल बोर्ड के कर्मचारियों को वैक्सीन लगाई जाएगी। इसके बाद 50 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों और गंभीर बीमारियों से ग्रसित 50 साल से कम उम्र के लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। इस हिसाब से पहले चरण में लगभग 51 लाख लोगों को वैक्सीन दी जाएगी।

Advertisements

सत्येंद्र जैन के मुताबिक, मुख्यमंत्री केजरीवाल ने केंद्र सरकार से अपील की है कि देश में सबको मुफ्त वैक्सीन दी जाए। जैन ने कहा, मैंने भी यूनियन हेल्थ मिनिस्टर से फ्री वैक्सीनेशन की अपील की है। अब हम उनके जवाब का इंतजार कर रहे हैं। केंद्र सरकार ने पहले भी हमारे कहने पर यूके से आने वाली फ्लाइट पर प्रतिबन्ध लगाया था, उम्मीद है कि इस बार भी वो हमारी मांगो पर ध्यान देंगे।

–आईएएनएस

जीसीबी-एसकेपी

विज्ञापन