सीजीटीएन संवाददाता बना अमेरिकी संसद भवन में हुए हिंसक बवाल का साक्षी

7


बीजिंग, 10 जनवरी (आईएएनएस)। अमेरिका के स्थानीय समय के अनुसार, 6 जनवरी को प्रदर्शनकारियों ने अमेरिकी संसद भवन पर हमला किया। हिंसक प्रदर्शन के दौरान स्थिति बहुत तनावपूर्ण हो गयी थी। सीजीटीएन के अमेरिका स्थित संवाददाता नाथन किंग उस दिन वहां रिपोटिर्ंग के लिए मौजूद थे। उन्होंने वीडियो के माध्यम से उस वक्त की खराब स्थिति की रिपोर्ट की।

नाथन किंग के मुताबिक, उनकी टीम के सदस्यों के उपकरणों को तोड़ा गया, प्रदर्शनकारियों ने पत्रकारों पर थूका और उनका पीछा किया। सौभाग्य की बात है कि कोई संवाददाता घायल नहीं हुआ।

वीडियो में नाथन किंग ने कहा कि उन्होंने प्रदर्शनकारियों के संसद भवन में घुसने से पहले उनके क्रोध को महसूस किया। कुछ प्रदर्शनकारियों ने एक चीनी व्यक्ति को देखकर चीन विरोधी बातें कहीं।

नाथन ने कहा कि प्रदर्शनकारियों से असहमत होने वाले लोगों के लिए बहुत मुश्किल स्थिति थी। लेकिन वहां मौजूद कई लोग बहुत बहादुर थे। उन जैसे कैमरे के सामने खड़े लोग और कैमरे के पीछे के लोग, और सभी अपमानजनक शब्दों को सहन करते हुए अपने कार्य में व्यस्त थे और उन्होंने अपने उपकरणों की रक्षा करने की कोशिश की।

Advertisements

उल्लेखनीय बात यह है कि नाथन किंग ने उस दिन अपने चीन निर्मित इलेक्ट्रिक वाहन का भी धन्यवाद किया, इस गाड़ी के जरिए वे सही-सलामत घटनास्थल से हट पाए थे।

यहां बता दें कि 2020 के राष्ट्रपति चुनाव के संपूर्ण परिणाम को पलटने के क्रम में ट्रंप समर्थकों द्वारा भवन की अभूतपूर्व घेराबंदी के दौरान सीजीटीएन के संवाददाता नाथन किंग अमेरिकी संसद भवन में थे। वीडियो रिपोर्ट में उन्होंने वहां जो देखा, पुलिस की प्रतिक्रिया, और प्रदर्शनकारियों की संसद भवन में घुसने के पूर्व उनकी प्रतिक्रिया आदि का वर्णन किया।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

–आईएएनएस

विज्ञापन