बोतल में बंद मिनरल वाटर के बारे में जाने ये बड़ी बात, क्या पूरी तरह से रहते है साफ?

4


आज के समय मे हर कोई कहते फिरता है कि हमे हमेशा मिनरल वाटर ही पीना चाहिये इससे शरीर को पानी से किसी प्रकार की बीमारी नही होती है लेकिन अगर आप इस तरह का मिनरल वाटर पियेगें तो इस बात की गांरटी नही है।

आज के समय मे अधिकांश मिनरल वाटर डिब्बा बंद बोतलो मे आता है जो प्लास्टिक का बना होता है और इन प्लास्टिक के बोतलो मे रहने के कारण उसमे प्लास्टिक के कुछ कण भी मिल जाते है जा हमारे शरीर के लिये खतरनाक सिघ्द होते है।

Advertisements

इस प्रकार डिब्बा बंद बोतलो मे होने से जब इन बोतलो मे सूर्य का प्रकाश पडता है तो गर्म होकर प्लास्टिक पानी के साथ क्रिया करने लगता है और पानी के साथ घुल कर एक प्रकार का खतरनाक रसायन बनाता है जिसके यदि लगातार सेवन किया जाये तो कैंसर तक का खतरा होता है।

इन सब से बचने के लिये हमेशा तांबे के लोटे का ही पानी पीना चाहिये ये गोल होने के कारण इसका सरफेस कम होता है और कम सरफेस वाला पानी मानव शरीर के लिये अत्यधिक लाभकारी होता है और लोटे मे पानी का किसी अन्य पदार्थ से क्रिया लगभग नही के बराबर होता हैं

विज्ञापन