रेल मंत्रालय ने यात्रियों की सुविधा के लिए उठाया यह बड़ा कदम, अब इन ट्रेनों से हटाए जाएंगे जनरल और स्लीपर कोच

0
2

लाइव हिंदी ख़बर:- रेल यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुँचाने के लिए रेल मंत्रालय एक शानदार योजना लेकर आया है। इसके अनुसार रेलवे 130 किमी प्रति घंटे से 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें चलाने की तैयारी कर रहा है। इन हाई स्पीड ट्रेनों में NON-AC कोच यानी स्लीपर और जनरल कोच नहीं होंगे।

यदि 130 किमी / घंटा की गति से मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें चलती हैं तो गैर-एसी कोच तकनीकी समस्याओं का कारण बन सकते हैं। इसी कारण से ऐसी सभी ट्रेनों में स्लीपर कोच रद्द कर दिए जाएंगे। वर्तमान में लंबी दूरी की मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में 83 एसी कोच लगाने का प्रस्ताव है।

हालांकि इसका मतलब यह नहीं है कि अब गैर-एसी कोच नहीं होंगे। वास्तव में गैर-एसी कोच एसी कोचों की तुलना में धीमे होंगे। इस संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार एसी ट्रेनें 110 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलेंगी। यह सारा काम चरणों में किया जाएगा। इसके साथ ही नए अनुभवों से सबक सीखने के बाद ही अगली योजना तैयार की जाएगी।

रेल मंत्रालय के प्रवक्ता डी.जे. नारायण ने कहा कि ऐसी ट्रेनों के टिकट भी सस्ते होंगे। हालांकि यह गलतफहमी होने की जरूरत नहीं है कि सभी गैर एसी कोचों को एसी कोच में बदला जाएगा।

वर्तमान में अधिकांश मार्गों पर मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों की गति 110 बीट प्रति घंटा या उससे कम है। राजधानी, शताब्दी और दुरंतो जैसी प्रीमियम ट्रेनें 120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलती हैं।