हिंदू राष्ट्र: संत परमहंस ने भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने के लिए अयोध्या में शुरू की भूख हड़ताल

लाइव हिंदी ख़बर:- भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए उपवास करके आए तपस्वी शिविर के संत परमहंस दास ने अब भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने की मांग की है। उन्होंने इस मांग को लेकर भूख हड़ताल शुरू कर दी है। उनका कहना है कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं होंगी, उनकी भूख हड़ताल खत्म नहीं होगी।

उन्होंने छह महीने पहले राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, गृहमंत्री और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में मांग की थी। उन्होंने कहा कि देश का विभाजन धर्म के आधार पर नहीं हुआ बल्कि विभाजन का कोई औचित्य नहीं था।

उन्होंने मांग की कि पाकिस्तान और बांग्लादेश को भारत में विलय करके एक अखंड भारत घोषित किया जाना चाहिए।
यदि माँग अनुचित है, तो फिर धर्म के आधार पर विभाजन क्यों?
स्वतंत्रता के बाद देश को धर्म के आधार पर विभाजित किया गया था, परमहंस दास ने कहा कि जो भूख हड़ताल पर थे। मुसलमानों को पाकिस्तान और बांग्लादेश दिया गया था, लेकिन दोनों समुदाय आज भी देश में रहते हैं।

दास ने कहा कि हम सोमवार सुबह से भूख हड़ताल पर हैं, भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने के लिए भोजन और पानी की मांग की जा रही है। अगर आपकी मांग अनुचित है, तो देश को धर्म के आधार पर क्यों विभाजित किया गया ?, उन्होंने अपील की।

राम मंदिर के लिए भी उपवास रखा गया था

परमहंस दास ने 1 अक्टूबर, 2018 से 12 अक्टूबर, 2018 तक राम मंदिर के लिए उपवास किया था। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में पीजीआई आकर और फलों का जूस पीकर परमहंस दास का उपवास तोड़ा था।