कोरोना वैक्सीन को लेकर सामने आई बड़ी खबर, तीसरे चरण में सुरक्षित पाया गया यह वैक्सीन

0
2

लाइव हिंदी खबर:- कोरोना संक्रमण से राहत के संदर्भ में अच्छी खबर है। चीन के सिनोवैक बायोटेक द्वारा विकसित कोरोना वैक्सीन के परीक्षण का तीसरा चरण ब्राजील में चल रहा है। सोमवार को वैक्सीन के प्रारंभिक परिणामों और निष्कर्षों की घोषणा की गई। वैक्सीन को सुरक्षित बताया गया है। इस परीक्षण में 9000 स्वयंसेवकों ने भाग लिया है।

साओ पाउलो में ब्यूटेनन इंस्टीट्यूट में वैक्सीन का परीक्षण किया जा रहा है, जो ब्राजील के प्रमुख बायोमेडिकल अनुसंधान केंद्रों में से एक है। संस्थान ने कहा कि कोरोनावैक, दो खुराक वाला टीका है, जो अब तक सुरक्षित पाया गया है।

इस परीक्षण में 9000 स्वयंसेवकों ने भाग लिया था। ब्यूटेनन इंस्टीट्यूट के महानिदेशक डिमास कोवास ने कहा कि पूरे 1300 स्वयंसेवकों पर कोरोनावैक वैक्सीन का परीक्षण नहीं किया गया। तब तक क्या टीका प्रभावी है पर डेटा जारी नहीं किया जा सकता है।

साओ पाउलो के गवर्नर जोआओ डोरिया ने कहा कि कोरोनावैक वैक्सीन देश में उपलब्ध सबसे सुरक्षित और सबसे अच्छी कीमत वाला वैक्सीन है। ब्यूटेनन इंस्टीट्यूट के महानिदेशक डिमास कोवास ने कहा कि इसलिए टीका परीक्षण के परिणाम प्रारंभिक हैं। शोधकर्ता वैक्सीन परीक्षण में भाग लेने वाले स्वयंसेवकों पर ध्यान केंद्रित करेंगे। वैक्सीन का परीक्षण तुर्की और इंडोनेशिया में किया जा रहा है।
टीका परीक्षण के परिणाम

बटन इंस्टीट्यूट के महानिदेशक डिमास कोवास ने कहा कि टीका का कोई गंभीर परिणाम नहीं है। परीक्षण में भाग लेने वाले बीस प्रतिशत स्वयंसेवकों ने इंजेक्शन के दौरान हल्के दर्द की सूचना दी। इसलिए पहली खुराक लेने के बाद 15 प्रतिशत लोगों ने सिरदर्द की शिकायत की और दूसरी खुराक के बाद केवल 10 प्रतिशत लोगों ने इसकी शिकायत की।

इसके अलावा पांच प्रतिशत से कम स्वयंसेवकों ने थका हुआ महसूस किया। कुछ स्वयंसेवकों ने मांसपेशियों में दर्द की सूचना दी।

ये टीके शरीर में सुरक्षात्मक एंटीबॉडी का उत्पादन करते हैं। अगले साल की शुरुआत में ब्राजील में उपयोग के लिए कोरोनावैक वैक्सीन को मंजूरी मिलने की उम्मीद है। अगर ऐसा होता है, तो यह दक्षिण अमेरिका में पहला टीकाकरण अभियान होगा। फरवरी के अंत तक ब्राजील सिनोवा से 60 मिलियन वैक्सीन खरीदेगा।

विज्ञापन>