जकार्ता के पास समुद्र में गिरा यात्री विमान, 62 लोग थे सवार (लीड-1)

45


जकार्ता, 10 जनवरी (आईएएनएस)। इंडोनेशिया के परिवहन मंत्री बुदी करया सुमाड़ी ने इंडोनेशियाई एयरलाइंस के बोइंग 737-500 विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने की पुष्टि कर दी है। इस विमान में 62 लोग सवार थे।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, शनिवार शाम को हुई वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में मंत्री ने कहा कि जकार्ता से पश्चिम कालीमंतन प्रांत के पोंटियनक शहर जा रही श्रीविजय एयर फ्लाइट एसजे-182 जकार्ता के उत्तर में सेरिबू जिले के पानी में क्रैश हो गई है। माना जा रहा है कि यह विमान जिले के लाकी और लंकांग द्वीप के पास दुर्घटनाग्रस्त हुआ।

इस विमान ने जकार्ता के सोएकरनो-हट्टा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से दोपहर 2.36 बजे (स्थानीय समय) उड़ान भरी थी और 4 मिनट बाद ही एयर ट्रैफिक कंट्रोलर से इसका संपर्क टूट गया था।

खराब मौसम के चलते खोज और बचाव अभियान में मुश्किल आ रही थी। इंडोनेशिया की नेशनल सर्च एंड रेस्क्यू एजेंसी (बसारनस) के मानव शरीर के अंग और विमान का मलबा मिला है।

सुमाड़ी ने कहा है कि राष्ट्रपति जोको विडोडो ने बचावकर्मियों को निर्देश दिया है कि वे पूरी ताकत से खोज और बचाव का काम करें।

वहीं एजेंसी के प्रवक्ता यूसुफ लातिफ ने बताया है कि लगभग 100 बचावकर्मी मौके पर थे। वहीं परिवहन मंत्रालय ने विमान दुर्घटना की जांच शुरू कर दी है।

इससे पहले त्रिसुला कोस्ट गार्ड शिप के कमांडर कैप्टन ईको सूर्या हादी ने एक स्थानीय टीवी को बताया था कि मानव शरीर के अंग, विमान का मलबा और लाइफ जैकेट मिले हैं।

सुमाड़ी ने कहा कि विमान में सवार लोगों में 50 यात्री थे। इनमें 7 बच्चे और 3 शिशु शामिल हैं। वहीं 12 चालक दल के सदस्य थे।

इससे पहले 29 अक्टूबर, 2018 को इंडोनेशिया के लायन एयर के बोइंग 737 मैक्स विमान के जकार्ता से उड़ान भरने के कुछ ही समय बाद सभी 189 लोग मारे गए थे। वहीं दिसंबर 2014 में एयरएशिया का एक विमान इंडोनेशिया के दूसरे सबसे बड़े शहर सुरबाया जाने के दौरान समुद्र में क्रैश हो गया था और इसमें सवार सभी 162 लोगों की मौत हो गई थी।

–आईएएनएस

एसडीजे-जेएनएस

विज्ञापन