Breaking News

TOP NEWS आयकर विभाग ने मध्यप्रदेश में की छापेमारी

नई दिल्ली, 22 फरवरी (आईएएनएस)। आयकर विभाग ने पिछले सप्ताह मध्यप्रदेश के बैतूल और सतना में स्थित सोया उत्पाद विनिर्माण समूह के 22 परिसरों में तलाशी और जब्ती अभियान चलाया। इसके साथ ही आयकर विभाग (आई-टी) ने महाराष्ट्र के मुंबई और सोलापुर के अलावा पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में भी तलाशी अभियान चलाया।

आई-टी विभाग ने कहा कि समूह ने कोलकाता स्थित शेल कंपनियों से भारी प्रीमियम पर शेयर पूंजी की शुरुआत के माध्यम से 259 करोड़ रुपये की आय को बेहिसाब तरीके से अर्जित किया है।

विभाग की एक जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि इस तलाशी अभियान के दौरान आठ करोड़ रुपये से अधिक की बेहिसाब नकदी और 44 लाख रुपये से अधिक की विभिन्न देशों की विदेशी मुद्रा भी जब्त की गई है।

इसके अलावा आयकर विभाग ने मामले के संबंध में नौ बैंक लॉकरों की भी तलाशी ली है।

समूह ने कोलकाता की शेल कंपनियों के एक अन्य समूह को शेल कंपनियों में पेपर निवेश की बिक्री के माध्यम से अपने बुक ऑफ अकाउंट्स में 90 करोड़ रुपये की अघोषित आय भी दर्शाई है।

विभाग ने कहा कि कोई भी कंपनी अपने घोषित पते पर चलती नहीं पाई गई और समूह ऐसी किसी भी कंपनी या उसके निदेशकों की पहचान की पुष्टि नहीं कर सका।

उल्लिखित कई कंपनियों को कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय की ओर से बंद पाया गया।

खोजबीन के दौरान यह भी पाया गया कि समूह द्वारा उनके मुनाफे को कम दिखाने के लिए 52 करोड़ रुपये के फर्जी नुकसान का भी दावा किया गया है, जो कि इंट्रा-ग्रुप आउट-ऑफ-एक्सचेंज अनुबंध सेटलमेंट में शामिल है।

इन लेनदेन को करने के लिए कर्मचारियों के नाम पर विभिन्न कंपनियों का गठन किया गया था, जबकि उनके बीच कोई वास्तविक व्यवसाय नहीं किया गया था। इन कंपनियों के निदेशकों को ऐसे किसी भी लेनदेन के बारे में जानकारी नहीं थी।

आयकर विभाग ने कहा कि डिजिटल मीडिया जैसे लैपटॉप, हार्ड ड्राइव, पेन ड्राइव आदि के रूप में सबूत पाए गए हैं, जिन्हें जब्त कर लिया गया है। मामले में अब तक की जांच से 450 करोड़ रुपये से अधिक की अघोषित आय का पता चला है और आगे की जांच जारी है।

–आईएएनएस

एकेके/एसजीके

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *