TOP NEWS दिल्ली में इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने के लिए दी गई 13.5 करोड़ रुपये की सब्सिडी

0


नई दिल्ली, 23 फरवरी (आईएएनएस)। इलेक्ट्रिक वाहन खरीद को प्रोत्साहित करने के लिए दिल्ली में एक वेबिनार आयोजित किया गया। इलेक्ट्रिक वाहनों से जुड़ी नीति बनाए जाने के बाद दिल्ली में लगभग 7000 से अधिक नए ईवी पंजीकृत किए गए हैं। 210 से अधिक स्वीकृत मॉडल पर लगभग 13.5 करोड़ की सब्सिडी अब तक वितरित की जा चुकी है।

डायलॉग एंड डेवलपमेंट कमीशन ने डब्लूआरआई इंडिया के सहयोग स्विच दिल्ली अभियान के तहत यह पहला वेबिनार आयोजित किया। दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने स्विच दिल्ली संकल्प की शुरूआत कर संबोधित किया और दिल्ली में सभी को ईवी वाहन खरीदने के लिए प्रोत्साहित किया।

कैलाश गहलोत ने कहा कि, दिल्ली में ईवी क्रांति का हिस्सा बनने और दिल्ली को भारत की ईवी राजधानी बनाने की प्रतिबद्धता को मजबूत करने के लिए स्विच दिल्ली संकल्प को लॉन्च किया गया है।

गहलोत ने कहा कि, दिल्ली में लगभग 7000 से अधिक नए ईवी पंजीकृत किए गए हैं। 210 से अधिक स्वीकृत मॉडल पर लगभग 13.5 करोड़ की सब्सिडी अब तक वितरित की जा चुकी है।

दिल्ली में इलेक्ट्रिक वाहन खरीद में तेजी लाने के लिए जनता और हितधारकों के साथ जुड़ाव बढ़ाने के उद्देश्य से आयोजित वेबिनार में 100 से अधिक लोग शामिल हुए। वेबिनार ने दो पैनलों की मेजबानी की। पहला इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने वाले व विशेषज्ञों के बीच चर्चा और दूसरा कि युवा दिल्ली में ईवी आंदोलन कैसे चला सकते हैं।

डब्ल्यूआरआई इंडिया में परिवहन निदेशक अमित भट्ट द्वारा संचालित विशेषज्ञ पैनलिस्टों में डब्ल्यूआरआई इंडिया के डॉ. ओपी अग्रवाल, बीआरपीएल के अभिषेक रंजन, आरएमआई इंडिया की अक्षिमा घाटे, मोटर वाहन पत्रकार क्रांति संभव और ईवी मालिक आयुषी जैन शामिल हुए।

स्विच दिल्ली अभियान के तहत आयोजित यह पहला वेबिनार है। स्विच दिल्ली, दिल्ली सरकार द्वारा एक आठ सप्ताह का जन जागरूकता अभियान है, ताकि प्रत्येक दिल्ली वासी को पर्यावरण के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों में स्विच करने के फायदों के बारे में जागरूक किया जा सके। साथ ही, उन्हें दिल्ली की ईवी नीति के तहत विकसित किए जा रहे प्रोत्साहनों और बुनियादी ढांचे के बारे में संवेदनशील बनाया जा सके। इस अभियान का उद्देश्य दिल्ली में प्रत्येक व्यक्ति को प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों से शून्य उत्सर्जन वाले इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलने के लिए बताना, प्रोत्साहित करना और प्रेरित करना है।

–आईएएनएस

जीसीबी/एएनएम

विज्ञापन